Advt.
विज़न एक्सपर्ट न्यूज़ एप्लीकेशन डाउनलोड करें और अपने क्षेत्र में होने वाले कार्यक्रम व हर गतिविधि से अपडेट रहें। अभी एप्लीकेशन डाउनलोड करें और पाएं उपहार जीतने का सुनहरा अवसर वो भी मीडिया के मंच से। VEN एप्लीकेशन प्री लॉन्चिंग मोड में है। विज़न एक्सपर्ट न्यूज़ एप्लीकेशन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या के लिए संपर्क कर सकते हैं-9997709577
Updates
अभी ven app download करें और अपने व्यापार का नि:शुल्क प्रचार प्रसार करने का मौका पाएं। VEN app Download करें और पाएं मीडिया के मंच से सम्मानित होने का मौका, अभी app download करें क्यूंकि चुनिंदा लोगों को ही सम्मानित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का आयोजन किया गया।

हाथरस: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहपऊ में 9 मार्च को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस का आयोजन किया गया। यह प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत प्रत्येक माह की 9 तारीख को प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयोजित किया जाता है। इसके तहत क्षेत्र के गर्भवती महिलाओं की पूर्व प्रसव संबंधित जांच की जाती है तथा यह सुनिश्चित किया जाता है की मां और गर्भस्थ शिशु स्वस्थ रहे और एक सुरक्षित प्रसव कराया जा सके।

7 गर्भस्थ शिशु या माताओं का शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य सही बना रहे।
इस दिन  स्वास्थ्य परीक्षण के अलावा प्रसव पूर्व सावधानियों,  गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक भोजन, कार्यभार, विश्राम और नींद,गर्भावस्था के दौरान उत्पन्न होने वाले लक्षण, बीमारी, व्यक्तिगत साफ-सफाई,
प्रसव पूर्व तैयारी तथा जटिलता के लिए तैयारी, प्रसव की तैयारी,जोखिम से निपटने की लिए तैयारी, रक्तदान के लिए तैयारी, प्रसवोपरान्त-शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन, प्रसवोत्तर क्लिनिक में जाने के लिए प्रोत्साहित करने सम्बन्धित परामर्श दिया जाता है
 गर्भवती की शारीरिक जाँचो में उनका वजन, लंबाई, तापमान, रक्तचाप, मधुमेह , सिफलिस, एचआईवी , अल्ट्रासाउंड, पेट , रक्त, गर्भस्थ शिशु की धड़कन आदि की जांचें कराई जाती हैं 
साथ ही उपरोक्त जाँचो के आधार पर उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को भी चिन्हित किया जाता है ताकि उनके गर्भावस्था तथा प्रसव को सुरक्षित तरह से कराया जा सके। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं को सूक्ष्म जलपान भी कराया जाता है।
 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सेवर के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ राजकिशोर वर्मा के दिशा-निर्देशों के साथ महिला चिकित्सा अधिकारी डॉ रुचि कमल ,स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी सुचिका सहाय, नर्स स्टाफ़ तथा समस्त स्टाफ  के सहयोग से आज कोई 88 गर्भवती ओ की जांच की गई, जिसमें 20 उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को चिन्हित किया गया जिन्हें वे विशेष चिकित्सकीय देखभाल की आवश्यकता होगी। एक गर्भवती को चिकित्सकीय सेवाओं के लिए उच्च चिकित्सा केंद्र में संदर्भित किया गया। जिला स्तर से मातृ स्वास्थ्य परामर्शदाता ऊषा रानी रहीं।

Comments
Leave Your Comment

Best News

Stay Connected

Download our app and get latest news and updates. Watch live news anytime.